खेती ल आधुनिक अऊ लाभकारी बनाए बर कार्ययोजना तैयार करव – कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चौबे

खेती अउ जैव प्रौद्योगिकी, जल संसाधन, पशुधन विकास, मछलीपालन विभाग के समीक्षा बैठक

रायपुर, कृषि जलसंसाधन, मछलीपालन अउ पुशपालन मंत्री श्री रविन्द्र चौबे ह आज इहां मंत्रालय (महानदी भवन) म विभागीय अधिकारी मन के समीक्षा बैठक म कहिन के शासकीय योजना मन के मैदानी क्षेत्र मन म क्रियान्वयन दिखना चाही। उमन कहिन के खेती के उन्नति म ही राज्य के खुशहाली निर्भर करथे अऊ एखर से रोजगार के अवसर पैदा होथे, ते खातिर अधिकारी मन खेती ल आधुनिक तौर तरीका ले बेहतर अऊ लाभकारी बनाए बर कार्ययोजना तैयार करव।
खेती अउ जल संसाधन मंत्री श्री चौबे ह खेती के लागत कम करे के तौर तरीका मन म विशेष बल देवत कहिन के किसान मन ल उन्नत अऊ प्रमाणित बीज मिले कोनो दिक्कत नइ होनी चाही। धान, दलहन, तिलहन के प्रमाणित बीज मन के पूर्वानुमान करके भण्डारण सुनिश्चित करे जाए। उमन कहिन के बीज उत्पादक कंपनी मन के बीज खराब होए म संबंधित फर्म मन के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराये जाय। श्री चौबे ह इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति ल प्रदेश के जिला म नवा कृषि महाविद्यालय खोले बर प्रस्ताव तैयार करे ल घलोक कहिन। बैठक म इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति ह बायोटेक्नालॉजी विभाग ले धान, दलहन, तिलहन अउ फलदार पौधा मन म होत अनुसंधान के जानकारी दीन। मंडी बोर्ड ल सब्जी उत्पादक मन ल बेहतर मूल्य देवाए अउ विक्रय बर छोटे-छोटे हाट बाजार विकसित करे अऊ भण्डारण बर गोदाम निर्माण कराये के निर्देश दीन।
मंत्री श्री चौबे ह समीक्षा बैठक म नरवा, गरवा, घुरवा के समुचित उपयोग बर कार्ययोजना बनाए ल घलोक कहिन। ए अवसर म अपर मुख्य सचिव अउ कृषि उत्पाद आयुक्त श्री सुनील कुजूर, जल संसाधन विभाग के सचिव श्री अविनाश चम्पावत, कृषि सचिव श्री हेमंत पहारे, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति श्री जी.के. निर्वाणी संग संबंधित विभाग के अधिकारीगण उपस्थित रहिन।

लउछरहा..