जापानी निवेशक मन से ‘मेक-इन-इंडिया’ म भागीदार बने के आव्हान

  • मुख्यमंत्री ह जापान के उद्यमी मन ल दीन छत्तीसगढ़ आए के नेंवता
  • जापानी कार्य संस्कृति अउ सौम्यता प्रेरणादायक: डॉ. रमन सिंह

रायपुर, 02 जून 2017। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह जापानी उद्योगपती मन अउ निवेशक मन ल छत्तीसगढ़ म कारोबार बर अउ उद्योग लगाय बर आमंत्रित करिन। मुख्यमंत्री आज जापान के ओसाका शहर म भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) कोति ले आयोजित निवेशक मन के सम्मेलन ल संबोधित करत रहिन। उमन कहिन- हमार देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ह भारत के आर्थिक अउ औद्योगिक विकास बर देश-विदेश के निवेशक मन ल ‘मेक-इन-इंडिया’ के नवा अउ प्रेरक नारा दे हावय। येमां भागीदारी बर जापान के उद्योगपती अउ निवेशक मन ल भारत जरूर आना चाही अउ छत्तीसगढ़ म घलोक निवेश करना चाही। डॉ. रमन सिंह ह कहिन कि भारत अउ जापान के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान कई बछर ले होत हे। बौद्ध संस्कृति एकर एक बड़का उदाहन हे। डॉ. सिंह ह कहिन- प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व म भारत अउ जापान के संबंध ल एक नवा आयाम मिले हावय। टोक्यो अउ वाराणसी हाथ ले हाथ मिलाके आगू बढ़त हे। भारत म जापान ल गुणवत्ता, तकनीक, नवाचार अउ उत्कृष्टता बर विशेष रूप से जाने जाथे। डॉ. सिंह ह कहिन-श्री मोदी के नेतृत्व म भारत नवाचार, तकनीक अउ अधोसंरचना के क्षेत्र म तीव्र गति ले तरक्की करत हे। मुख्यमंत्री ह जापान के कार्य संस्कृति अउ सौम्यता के प्रशंसा करत कहिन- ये काफी अदभुत अउ प्रेरणादायक हावय। एखर से हम बहुत कुछ सीख सकत हावंय। जापान के सफलता हमला हमेसा आकर्षित करत रहिथे। उमन कहिन- ओसाका आके मैं बहुत आत्मीयता के अनुभव करत हंव। सम्मेलन म मुख्यमंत्री के आत्मीय स्वागत करे गीस।
डॉ. सिंह ह अपन उदबोधन म ए बात म खुशी जताईन कि छत्तीसगढ़ म निवेश के संभावना ल लेके जापान म ये पहली सम्मेलन होइस। उमन कहिन- मोला उम्मीद हावय कि भविष्य म हम अउ नजदीक आबोन। डॉ. सिंह ह कहिन- जऊन प्रकार छत्तीसगढ़ ल भारत के चावल उत्पादक राज्य के रूप म धान के कटोरे के नाम से पहचाने जाथे, ठीक वइसनहे जापान के ओसाका शहर ल घलोक चावल के व्यापार के प्रमुख केन्द्र के रूप म जाने जाथे अउ एला जापान के रसोई घर घलोक कहे जाथे। डॉ. सिंह ह कहिन- मोला ये कहत गर्व के अनुभव होवत हे कि मैं ओ भारत के प्रतिनिधित्व करत हंव, जेखर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी हे अउ जउन ह अभी एक हफ्ता पहिलीच अपन कार्यकाल के पहिली तीन साल सफलतापूर्वक पूरा करे हे। ऊंखर नेतृत्व के तीन साल म भारत ह कई अइसन निर्णय लेहे हे अउ कई अइसन उपलब्धि हासिल करे हे, जेकर से दुनिया म हमारे देश के सम्मान बढ़े हावय। हम दुनिया के पहिली राष्ट्र आन, जऊन ह अपन 86 प्रतिशत मुद्रा मन के विमुद्रीकरण करे हवय। वैश्विक मापदण्ड के जइसे प्रधानमंत्री के नेतृत्व म पूरा भारत म एक देश, एक टैक्स अउ एक बाजार के अवधारणा ल साकार करे बर जीएसटी के शुरूआत होवइया हावय। मुख्यमंत्री ह जापानी निवेशक मन ल छत्तीसगढ़ म औद्योगिक विकास अउ पूंजी निवेश के प्रबल संभावना मन के बारे म विस्तार ले बताइन।
डॉ. सिंह ह कहिन- भारत के नवा राज्य के रूप म छत्तीसगढ़ साल 2000 म अस्तिव म आइस। ए लिहाज से छत्तीसगढ़ एक युवा राज्य हे। येमा युवा मन के जइसे जोश, क्षमता अउ अपार संभावना हावय। ये युवा राज्य भारत के सबले तेजी से उभरत व्यापार संभावना वाले प्रदेश के रूप म अपन पहिचान बनावत हे। डॉ. सिंह ह कहिन- छत्तीसगढ़ ल प्राकृतिक संसाधन मन के स्वर्ग घलोक कहे जाथे। खनिज, कुशल मानव संसाधन, उपजाऊ जमीन अउ बहुत जल सम्पदा के सेती छत्तीसगढ़ के विकास म इंखर महत्वपूर्ण योगदान हावय। देश के ए नवा राज्य ह स्टील, एल्यूमिनियम, सीमेंट अउ बिजली जइसे कोर सेक्टर के उद्योग मन म शानदार सफलता हासिल करे हावय। अब हमर प्राथमिकता कृषि, वनोपज, सूचना प्रौद्योगिकी, इलेक्ट्रॉनिक्स, सौर ऊर्जा अउ आटो मोबाइल जइसे नॉन कोर सेक्टर के उद्योग मन ल बढ़ावा देहे के हावय। हम राज्य म विकास के एक बुनियादी ढांचा तैयार करे हन अउ बड़ तेजी ले राज्य म विश्व स्तरीय अधोसंरचना मन के विकास करत हावन। डॉ. सिंह ह कहिन- विश्व बैंक के रिपोट के अनुसार पाछू दू साल से छत्तीसगढ़ के गिनती व्यापार व्यवसाय के सरलीकरण बर ‘इज-ऑफ-डुइंग बिजनेस’ म देश के पहिली पांच राज्य मन म होथे। हमन व्यापारिक अर्थव्यवस्था के सिसटम म काफी सुधार करेस हावंय। डॉ. सिंह ह कहिन- भारत के बीच म स्थित छत्तीसगढ़ के सीमा देश के सात राज्य मन के संग जुड़े हावय। ए दृष्टि ल े घलोक उद्योग अउ व्यापार व्यवसाय बर छत्तीसगढ़ एक आदर्श रणनीतिक स्थिति म हावय।
डॉ. रमन सिंह ह जापानी निवेशक मन ल बताइन कि छत्तीसगढ़ म स्मार्ट सिटी अउ नवा रेलमार्ग संग विश्व स्तरीय अधोसंरचना के तेजी ले निर्माण होवत हे। पाछू 150 साल म राज्य म जतका रेलमार्ग बनाय गए हे, ओखर ले दुगुना रेलमार्ग अवइया पांच साल म बनइया हे। भिलाई इस्पात संयंत्र ले सिरिफ भारत, भलुक पूरा दुनिया के रेल नेटवर्क बर सुदृढ़ रेलपात मन के निर्माण करे जात हावय। ओसाका म आयोजित ये निवेशक सम्मेलन म छत्तीसगढ़ सरकार के मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड, वाणिज्यि अउ उद्योग विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री एन. बैजेन्द्र कुमार, सूचना प्रौद्योगिकी अउ इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग अउ मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह, छत्तीसगढ़ राज्य औद्योगिक विकास निगम (सीएसआईडीसी) के प्रबंध संचालक श्री सुनील मिश्रा अउ आन संबंधित वरिष्ठ अधिकारी घलोक उपस्थित रहिन।
निवेशक सम्मेलन म जापान विदेश व्यापार संगठन (जेईटीआरओ), ओसाका चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इंडस्ट्रीज, इंडियन चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इंडस्ट्रीज ऑफ जापान अउ जापान के कई ठन उद्योग अउ व्यापार संगठन मन के प्रतिनिधि सामिल होइन। उमन ए अवसर म जापान के प्रमुख इलेक्ट्रिक मोटर बनइया संस्थान एनआईडीइसी के बोर्ड मेम्बर श्री रायुची टनबे ले घलोक मुलाकात करिन। सम्मेलन म सूचना प्रौद्योगिकी, आवास अउ पर्यावरण अउ इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग अउ मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह ह छत्तीसगढ़ म निवेश के संभावना मन उपर प्रस्तूतिकरण दीन। सम्मेलन के बाद मुख्यमंत्री ह जापानी उद्यमि मन अउ निवेशक मन से अलग-अलग मुलाकात करके ओ मन ल राज्य म पूंजी लगाय बर आमंत्रित करिन।

लउछरहा..