मुख्यमंत्री श्री बघेल ह कलेक्टर मन ल लिखिन चिट्ठी

  • नवा साल 2019 के दीन शुभकामना

  • बताइन शासन के प्राथमिकता

  • नागरिक मन ल जनपयोगी सेवा मन के निरधारित समय-सीमा म देहे के निर्देश

  • लंबित आवेदन मन के 15 जनवरी 2019 तक निराकरण करे जाए

  • आवेदन मन के निराकरण के स्थिति के समीक्षा खुद करहीं मुख्यमंत्री

  • आवेदन मन के निराकरण म देरी मे दोसी मन के विरूद्ध होही कार्रवाई

रायपुर, मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ह सबो जिला कलेक्टर मन ल चिट्ठी लिखके नवा साल 2019 के शुभकामना देहे हें। संगेच कलेक्टर मन ल राज्य सरकार के प्राथमिकता मन ले घलोक अवगत कराये हें। उमन कहे हें के राज्य के नागरिक मन ल जनोपयोगी सेवा समय-सीमा म देहे जाना राज्य शासन के सर्वोच्च प्राथमिकता म सामिल हे। लोक सेवा गारंटी अधिनियम के तहत कई ठन विभाग मन ले 200 ले जादा नागरिक सेवानिरधारित समय-सीमा म जनसामान्य ल देहे बर चिन्हांकित करे गए हे। ए सेवा मन ल समय-सीमा म नागरिक मन ल देहे जाय।
मुख्यमंत्री श्री बघेल ह चिट्ठी म कलेक्टर मन ले कहे हें के ये देखे जात हे के आम-नागरिक मन ल छोटे-छोटे काम कराए बर शासकीय कार्यालय मन के कई चक्कर लगाये ल परत हे, ओ मन ल फोकट के परेशानी होथे अऊ निरधारित समय-सीमा म नागरिक मन ल जरूरी सेवा प्राप्त नइ हो पात हे। जेखर सेती सबो कलेक्टर 15 दिसम्बर 2018 के स्थिति म जिला म लोक सेवा गारंटी अधिनियम के अन्तर्गत प्राप्त आवेदन, ऊंखर निराकरण के स्थिति अउ निरधारित समय-सीमा म उपलब्‍ध नइ कराये गए सेवा मन के संख्या, विलम्ब के कारण अउ समय म आवेदन मन के निराकरण नइ करे म समक्ष अधिकारी कोति ले करे गए दण्डात्मक कार्रवाही के जम्‍मा जानकारी 7 जनवरी 2019 तक अनिवार्य रूप ले भेजे जाय।
मुख्यमंत्री ह कलेक्टर मन ल ये घलोक सुनिश्चित करे बर कहे हें के सबो लंबित आवेदन मन के 15 जनवरी 2019 तक निराकरण कर दे जाय अऊ भविष्य म सबो आवेदन मन के निरधारित समय-सीमा म निराकरण सुनिश्चित करे जाए। श्री बघेल ह कहिन के ओ मन खुद दिन-प्रतिदिन के आधार म आवेदन मन के निराकरण के स्थिति के समीक्षा करहीं अऊ आवेदन मन के निराकरण म विलम्ब होही, त एला गंभीरता ले ले जाही अऊ दोसी मन के विरूद्ध अनुशासनात्क कार्यवाही करे जाही।

लउछरहा..