गोठान के संवरे ले फसल मन के होही बचाव: श्री भूपेश बघेल

मुख्यमंत्री ह ग्राम अमोरा के आदर्श गोठान के करिस भ्रमण

रायपुर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ह आज जांजगीर-चांपा जिला के विकासखण्ड नवागढ़ के ग्राम अमोरा म बनाय गे आदर्श गोठान के भ्रमण कर कोटना, पानी के व्यवस्था, शेड, चारागाह आदि के निरीक्षण करिस। उमन गाय मन के पूजा करिन अऊ चारा घलोक खवईन अउ गोठान परिसर म पीपर, चिरई जाम (जामुन), आमा के पौधा रोपिन। मुख्यमंत्री ह गोठान म लगे जुन्ना बर के पेड़ के तरी गोठान समिति के सदस्य, गांव के जनप्रनिनिधि अउ गांव वाले मन संग गोठान प्रबंधन के संबंध म चर्चा करिन।

श्री बघेल ह कहिन कि गांव के समृद्धि के पहिचान गाय मन ले हे। मवेयाी मन के होए ले ही फसल उत्पादन म वृद्धि संभव हे। गोठान म गाय मन के रहे ले खेत म लगे फसल सुरक्षित रइही। एखर बर खेत ल घेरे के जरूरत नइ होही। गोठान म पानी, चारा, छांव आदि के व्यवस्था होए ले मवेशी गोठान कोति आकर्षित होहीं। मुख्यमंत्री ह कहिन कि गोठान म चरवाहा के नियुक्ति करे जाही। जेखर बर मानदेय के व्यवस्था घलोक गोठान के आमदनी ले होही। गाय मन के गोबर ले वर्मी कम्पोस्ट खाद तियार करे जाही। जैविक खेती बर ए खाद के विशेष मांग हे। एला अब किलो के भाव ले बेचके जादा आमदनी लेहे जा सकही। एखर बर युवा मन ल प्रशिक्षण घलोक देहे जात हे। मुख्यमंत्री ह गरूवा, घुरवा, नरवा अऊ बाड़ी के बेहतर प्रबंधन बर गांव वाले मन ले सुझाव घलोक मांगिंन अऊ ग्रामीण महिला मन ल स्व-सहायता समिति के माध्यम ले काम करे बर प्रेरित करिन।

दही लूट के प्रसंग ले बताइस दूध के महत्व
मुख्यमंत्री ह दूध के महत्व ल बतात कहिन कि दूध हमार शरीर बर लाभदायक हे। शरीर ल सुपोषित करथे। दूध बेचके किसान अकतहा लाभ प्राप्त कर सकत हें। उमन कृष्ण लीला म माखन चोरी के प्रसंग के चर्चा घलोक करिन। उमन गांव वाले मन ल बताइन कि राज्य ले बाहिर जात माखन, दूध ल रोके बर भगवान कृष्ण ह माखन लूट के योजना बनाय रहिस। भगवान कृष्ण अपन राज्य के लइका मन ल माखन अउ दूध देना चाहत रहिन। माखन, दही अउ दूध के बाहिर जाय ले ऊंखर राज्य के लइका दूध-दही ले वंचित हो गए रहिन। उमन ए प्रसंग के संग शराब जइसे दुर्व्यसन ले दूर रहे के घलोक सलाह गांव वाले मन ल दीन।

जैविक खाद ले बने रइही जमीन के उर्वरता
मुख्यमंत्री ह गांव वाले मन ल जैविक खाद के महत्व बताइन। खाद मवेशी मन के गोबर ले ही स्थानीय स्तर म तैयार हो जाथे। एखर से जमीन के उर्वरता बाढ़थे। फसल म बीमारी कम होए ले दवाइ मन के खर्च घलोक कम होथे। रसायनिक खाद के तुलना म जैविक खाद सस्ता हे। रासायनिक खाद के उपयोग ले जमीन के उर्वरता कम होथे अऊ फसल मन म बीमारी घलोक जादा होथे।

चारा दान बर करिस प्रेरित
मुख्यमंत्री ह किसान मन ले कहिन कि फसल अपशिष्ट पैरा ल खेत म जलाके नष्ट झन करव। पैरा ल गोठान म दान करव। एखर से गोठान म चारा के व्यवस्था हो जाही। पैरा ल खेत म जलाए ले जमीन के उर्वरा कम होथे अऊ पर्यावरण बर घलोक नुकसानदायक हे। गोठान म मवेशी मन बर चारा घलोक उगाये जाही। एखर बर शासकीय जमीन के चिन्हांकन करे जात हे।

गोठान भ्रमण के बेरा स्कूल शिक्षा अऊ जिला के प्रभारी मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह टेकाम, चन्द्रपुर विधायक श्री रामकुमार यादव, नवागढ़ जनपद के अध्यक्ष श्री पुष्पेन्द्र प्रताप सिंह, ग्राम पंचायत सरपंच एव गोठान समिति के अध्यक्ष श्री रामकृष्ण कश्यप, कलेक्टर श्री जनक प्रसाद पाठक, पूर्व विधायक श्री मोती लाल देवांगन, श्री चुन्नीलाल साहू, जिला पंचायत के पहिली सदस्य श्री दिनेश शर्मा संग बड़ संख्या म गांव वाले मन उपस्थित रहिन।

लउछरहा..