‘जबर हरेली रैली’ ओजस्वी साहू (आरू), ओपी देवांगन अउ कान्ति कार्तिक आहीं

देव लहरी. रायपुर, छत्तीसगढ़ के पहली तिहार हरेली म छत्‍तीसगढि़या मन के अस्मिता जगाए बर छत्तीसगढ़िया क्रान्ति सेना ह एक बड़का कार्यक्रम के रूप म ‘जबर हरेली रैली’ के आयोजन 21 तारीक को धमतरी म करवात हे। ये रैली अउ कार्यक्रम मा राज्य के लोक संस्कृति बस्तरिहा नृत्य, वनांचल गेड़ी नृत्य, पंथी नृत्य, राऊत नाचा, डंडा नृत्य, कर्मा सुवा ददरिया, अखाड़ा व पुरखा के झांकी के संग बैल गाड़ी के जूलुस निकाले जाही। ये रैली मंझनिया 11 बजे जुन्ना कृषि उपज मंडी बस स्टैंड ले निकल के शहर के कई…

छत्‍तीसगढ़ी जब बनही काम-काज के भाखा

दुर्ग, आज हम छत्‍तीसगढ़ के जिला मुख्‍यालय दुर्ग तहसील कार्यालय परिसर म छत्‍तीसगढ़ी के काम-काज के भाखा बर गोठ-बात करेन। हम उहां के पेशकार अउ टाईपिस्‍ट मन संग जब बात करेन, काबर के सरकारी कार्यालय मन म कागज-पाथर लिखे अउ फारम भरे के काम इही मन करथें। जब तक ये मन छत्‍तीसगढ़ी म काम-काज करे म प्रवीन नई होहीं हमर भाखा के अरजी सरकारी कार्यालय मन तक नई पहुच सकय। त आवव सुनव का कहिन इमन- Share on: WhatsApp

राजधानी म 28 नवम्बर के दिन मनाये जाही छत्तीसगढ़ी राजभाषा दिवस

रायपुर, राज्य सरकार के संस्कृति अऊ पुरातत्व विभाग के संस्था छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग कोति ले बुधवार 28 नवम्बर के दिन इहां छत्तीसगढ़ी राजभाषा दिवस के आयोजन करे जाही। कार्यक्रम तीन सत्र मन म महंत घासीदास संग्रहालय परिसर स्थित सभागृह म बिहनिया 11 बजे शुरू होही। छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष श्री के.आर. पिस्दा शुभारंभ सत्र के मुख्य अतिथि होही। पहिली सत्र म ऊंखर संगें-संग वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. विनय कुमार पाठक अऊ डॉ. सुशील त्रिवेदी (पूर्व राज्य निर्वाचन आयुक्त) घलोक अपन विचार व्यक्त करहीं। दूसर सत्र म मंझनिया 12 बजे…