छकड़ा म दुलहा अउ बइला गाड़ी म बरात देख के दंग रहि गंए देखइया

धमतरी जिला म एक अजूबा बरात देखे गीस जेमां सेना के एक जवान लोमश साहू ह अपन बबा के सउंख ल पूरा करे बर एक कोरी छकड़ा बइला गाड़ी के संग अपन बारात निकालिस। ये बरात मंदरौद ले निकलके 10 किलोमीटर दूरिहा परखंदा गांव गीस। बिहाव के बाद अपन दुलहिन नेहा साहू ल लेके उही बइला गाड़ी के काफिला के संग बराती मन अपन गांव आइन। ये बारात के एतराब म अड़बड़ सोर होए ह े काबर के बइला गाड़ी मन ल अड़बड़ सुघर ढंग ले सजाए गए रहिस हे।
बइला गाड़ी के चक्का ले लेके ओखर पूरा ऊपरी हिस्सा अऊ बइला मन ल तको बने सहिन सजाए गए रहिस। रद्दा म बराती मन के सेवा-साटका करे गीस ओइसनहे बइला मन बर घलो चारा के संग बरा-सोहांरी खवाए गीस। आप मन ल बता देवन के सेना के जवान लोमश डेढ़ साल तक जम्मू कश्मीर म सेवा देहे हे। अब सेना ले रिटायरमेंट लेके अपन गांव कुरूद ब्लाक के मंदरौद म अपन पुश्तैनी खेती ल संभालत हे। ये अजब बरात के संबंध म लोमश ह बताइस के ऊंखर बबा बैसाखूराम के इच्छा रहिस कि छत्तीसगढ़ के सांस्कृतिक परंपरा ल बनाए रखे बर जब तैं बिहाव करबे त बारात बैलगाड़ी म लेके जाबे। एखर सेती पाछू कई दिन ले ये बइला गाड़ी मन के सजावट के काम चलत रहिस।
फोटो : navabharat.news ले


(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

लउछरहा..