रोज उधार मंगइया माहंगी गाडी म घूमे लगिस तब पता चलिस एक करोड़ ले जादा के 11 कार जपत

धर्मेन्‍द्र निर्मल के समाचार सार, चरचकिया गाड़ीमन ल चोरी करके ओला बिहार म बेचइया अंतर्राज्यीय चोट्टा दल के पुलिस ह भंडाफोर डारे हे। दू तीन साल पहिली जेन ह दस रूपिया बचाए खातिर आटो रिक्‍शा म नइ बइठ के रेगत रहय तेन ह उदुपहा चरचकिया दडंड़ाए लगिस, महीना म बीस दिन टूर मारे लंगिस तब शक होइस पुलिस ल। जब पूछताछ करे गइस तब होइस मामला के खुलासा।

मामला के खुलासा म गजब बड़ भूमिका निभइया पाटन एसडीओपी राजीव शर्मा ह। बताइन के ए चोट्टा दल ह तीन साल ले पूरा दुर्ग संभाग म सक्रिय हे। ए दल
के हुड़को सेक्टर 5 के रहइया सतबीर सिंह उर्फ सोनू ह सेक्टर 2 के रहइया हरदीप सिंह संग मिलके ए चोट्टई के बूता ल करै। चोरी खातिर नकली कुची सुपेला म रहइया इम्तियाज ह बनावय। ए दूनो चोट्टा मन ह चरचकिया चोराए के पीछू ओला रायपुर रहइया वीरेन्द्र सिंह अउ नागपुर रहइया प्रशांत कड़बे तक पहुंचाए के काम करै। दूनो बिहार रहइया मंजीत ल बेच देवय। जेन ह बिहारेच के रहइया अजीत कुमार के सहारा लेके चेसिस नंबर ल बदलके गांजा तस्करी के काम
म लगा देवय।
एक समे अइसे रिहिसे जब 10 रूपिया असन ल बचाए खातिर सतबीर ह मोटर गाड़ी नइ चढ़के रेंगत आवय-जावय। उदुपहा उही उधारी मांग के गुजर बसर करइया ह मांहगी चरचकिया म घूमे फिरे लागिस तब संका होइस। तब उन्कर पीछू मुखबीर लगाए गइस। ओकर तार कहां-कहां काकर ले जुड़े हे सब पतासाजी करे गइस। तब जाके जौन जानबा होइस जेन गजब चौंकाए के लइक हवय।

लउछरहा..