जब सेना के जवान के एक थपरा ले मूत डरे रहिस मसूद अजहर, रो-रोके बकरे रहिस सब्बो बात

पुलवामा म सीआरपीएफ म होए हमला के बाद आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ह घटना के जिम्मेदारी लीए हे। जैश के पगरईत मसूद अजहर पाकिस्तान म रहिथे, फेर एक बखत म अइसे घलोक रहिस जब वो भारतीय सुरक्षा अधिकारी मन के गिरफ्त म रहिस। जैश प्रमुख के जांच ले जुड़े एक अधिकारी ह पीटीआई ल बताइए रहिस हे के मसूद अजहर ले जानकारी निकाले बर जादा मेहनत नइ करना परे रहिस। वो ह एके थपरा म मूत डरे रहिस अऊ आतंकी गतिविधि मन के बारे म अड़बड़ अकन जानकारी बताए रहिस। 1994 म गिरफ्तारी के बाद भारत के एक आर्मी ऑफिसर ह पूछताछ के बेरा मसूद अजहर ल थपरा मारे रहिस। एखर बाद ओ ह पाकिस्तान ले चलाये जात आतंकी कैप मन के बारे म बड़का जानकारी देहे रहिस।
अजहर पुर्तगाल के एक पासपोर्ट के अधार म बांग्लादेश ले भारत म घुसरे रहिस अऊ कश्मीर पहुंच गए रहिस। फरवरी 1994 म ओला दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग ले गिरफ्तार करे गए रहिस। वो घेरी-बेरी कहत रहिस के वो ह आईएसआई के दमांद ये। सिक्किम के पहिली डीजीपी अऊ इंटेलिजेंस ब्यूरो म दू दशक तक काम करइया अविनाश मोहनाने ह घलोक अजहर ले पूछताछ करे रहिस। उमन बताए हें के अजहर ल जांच के समय हैंडल करना आसान रहिस। 1999 म इंडियन एयरलाइन्स के फ्लाइट आईसी 814 ल हाईजैक करे के बाद सवारी मन के बल्‍दा म आतंकी मन ल छोड़े के मांग करे गए रहिस। उही बेरा म अजहर ल घलोक भारत के जेल ले छोड़े गए रहिस। एखर बाद ले अजहर ह भारत म कई आतंकी हमला मन ल अंजाम देहे हे।

लउछरहा..