मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल उडि़शा के ‘खरियार महोत्सव’ म होइन सामिल

रायपुर, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ह काल संझा ओडि़शा राज्य के राजा खरियार म राजा ए.टी. हाई स्कूल मैदान म आयोजित खरियार महोत्सव के समापन कार्यक्रम म सामिल होइन। श्री बघेल ह कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप म अपन उद्गार म कहिन के छत्तीसगढ़ अऊ उडि़शा केवल पड़ोसी राज्य भर नइ हे, भलुक इंकर सदियों ले घनिष्ठ अऊ भाईचारा के रिश्ता रहे हे। सीमावर्ती राज्य होए के संगें-संग हमर जन-जीवन, खान-पान अऊ परम्परा मन घलोक मिले-जुले हे। हमर भाई-भाई के अऊ सुख-दुख के नता हे। आज इहां मैं अपन भाई मन ले मिले ल आये हंव।
ए अवसर म कार्यक्रम के अध्यक्षता पूर्व केन्द्रीय मंत्री भक्त चरणदास ह करिन। उमन कहिन के अइसन आयोजन हमर संस्कृति के न केवल संरक्षण करथे, भलुक ए मन ल बढ़ाथे घलोक। ए माध्यम ले हमार कलाकार मन अऊ लोक परम्परा मन ल घलोक प्रोत्साहन मिलथे। कार्यक्रम के सभापति के रूप म श्री अधिराज पाणीग्रही ह बताइस के ये लोक महोत्सव छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध महोत्सव म एक हे, जेखर आयोजन पाछू पंद्रा बछर ले होवत हे। राजा खरियार कला अउ संस्कृति के दृष्टि ले प्रसिद्ध स्थान हे। इहां रंग मंच के सुदीर्घ जुन्ना परम्परा हे। उमन कार्यक्रम के चालू म मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के स्वागत करिन अऊ बताइन के ये पहली मउका हे के ए आयोजन म छत्तीसगढ़ के कोनो मुख्यमंत्री ह हिस्सा लेवत हे।
हम आप ल बता देवन के ए पांच दिवसीय सांस्कृतिक आयोजन म देश के छत्तीसगढ़ संग दस राज्य मन के कलाकार मन ह सांस्कृतिक प्रस्तुति दीन हें। कार्यक्रम म मुख्यमंत्री ह कलाकार मन ल सम्मानित करिन अऊ खुद घलोक कार्यक्रम म देर तक बइठके एकर आनंद लीन। कार्यक्रम के चालू म श्री बघेल ह भगवान श्री जगन्नाथ के मूर्ति के आघू दीया जला के करिन।

लउछरहा..