छत्तीसगढ़ के पुरखा मन के योगदान ल अक्षुण्ण रखे जाही – भूपेश बघेल

संत कवि पवन दीवान के स्मृति म साहित्यकार मन के सम्मान
रायपुर, मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ह कहिन हे के राज्य सरकार, छत्तीसगढ़ के पुरखा मन के योगदान ल अक्षुण्ण बनाए रखे बर काम करही। उमन कहिन के जऊन देश अऊ समाज अपन इतिहास भुला जाथे, ओखर भविष्य अंधकारमय हो जाथे। श्री बघेल ह कहिन के छत्तीसगढ़ के महापुरूष मन के योगदान ल स्कूल-कालेज के पाठ्यक्रम म सामिल करे जाना चाही, जेखर से भविष्य के पीढ़ी ल ऊंखर काम, संघर्ष, योगदान, आदर्श अऊ सपना मन के जानकारी मिलय। मुख्यमंत्री कल स्थानीय विप्र भवन म छत्तीसगढ़ी ब्राम्हण समाज कोति ले संत कवि पवन दीवान के स्मृति म आयोजित श्रद्धांजलि सभा अऊ सम्मान समारोह ल सम्बोधित करत रहिन।
मुख्यमंत्री ह ए अवसर म छत्तीसगढ़ी ब्राम्हण समाज के तरफ ले साहित्यकार डॉ. परदेशी राम वर्मा अऊ श्री मीर अली मीर ल शाल श्रीफल चिनहा अऊ इक्कीस हजार रूपिया के राशि देके सम्मानित करिन। कार्यक्रम के अध्यक्षता संस्कृति मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ह करिन। कार्यक्रम म कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, नगर निगम के महापौर प्रमोद दुबे, वरिष्ठ पत्रकार रमेश नैयर, संग छत्तीसगढ़ ब्राम्हण समाज के पदाधिकारी अऊ कई ठन क्षेत्र मन ले आए साहित्यकार उपस्थित रहिन।
मुख्यमंत्री ह संत कवि पवन दीवान के योगदान के स्मरण करत कहिन के ओ मन अद्भुत मनखे रहिन, साहित्य, कविता, धार्मिक ,सामाजिक अऊ राजनैतिक क्षेत्र म सक्रियता ले हिस्सा लेत रहिन। ओ मन एक निश्च्छल अऊ कवि हृदय अऊ एक अच्छा भागवताचार्य रहिन। उमन हमेसा छत्तीसगढ़ के अस्मिता अऊ स्वाभिमान बर काम करिन। श्री बघेल ह कहिन के छत्तीसगढ़ के महापुरूष मन के योगदान ल चिर स्थायी बनाए बर इहां के कवि, साहित्यकार, कलाकार, समाज सुधारक अऊ राष्ट्रीय आन्दोलन म हिस्सा लेवइया पुरखा मन ह छत्तीसगढ़ ल राष्ट्रीय अऊ अंतर्राष्ट्रीय स्तर म छत्तीसगढ ल पहिचान दे हे हें, उन सब मन उपर डाक्यूमेंट्री फिल्म, पुस्तक, नाटक अऊ कहानी आदि के रचना के काम हम सब-मिल जुलके करबोन।
समारोह के अध्यक्षता करत संस्कृति मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ह कहिन के संत कवि पवन दीवान मनखे मन के दिल मन म राज करत रहिन। उंखर सोच म सहिष्णुता अऊ व्यापकता रहिस। छत्तीसगढ़ म सांस्कृतिक गतिविधि मन बर कलाकार, साहित्यकार, कवि, लेखक आदि ले सुझाव लेके कार्ययोजना बनाए जाही। अइसनहे प्रकार से धर्मस्व विभाग कोति ले राज्य के मंदिर मन ल चिन्हांकन करके ऊंखर रखरखाव, धार्मिक न्यास विभाग कोति ले पंजीयन के कार्रवाई करे जाही।
समारोह म मुख्यमंत्री ह डॉ. सुधीर शर्मा अऊ श्री लक्षमण मस्तुरिहा अउ संत कवि पवन दीवान उपर लिखित पुस्तक मन के विमोचन करे गीस । समारोह ल साहित्यकार डॉ. परदेशी राम वर्मा अऊ श्री मीर अली मीर, वरिष्ठ पत्रकार श्री रमेश नैय्यर, साहित्यकार श्री रवि श्रीवास्तव, विप्र प्रबंधन समिति के अध्यक्ष श्री नरेन्द्र तिवारी अऊ छत्तीसगढ़ युवा विकास संगठन के अध्यक्ष श्री ज्ञानेश शर्मा ह घलोक सम्बोधित करिस।

कृपया हमारे द्वारा अनुवादित समाचारों को चोरी करके किसी दूसरे छत्‍तीसगढ़ी वेब न्‍यूज पोर्टल में पेस्‍ट ना करें। 

लउछरहा..