भगवान के मुहु नइ फूलय भगत के हाथ गोड़ भले फूल जथे

15 साल से भूईंया के मुआवजा खातिर भटकत हे जशपुर के किसान

धर्मेन्‍द्र निर्मल के सार समाचार, छत्तीसगढ़ म जशपुर जिला म खमगड़ा बांध बांधे गे हे जेकर निर्माण ह पन्द्रा बछर होगे। बांधा बंधाए के बाद ओ परियोजना म सैकड़ा भर किसान के खेत ह पानी म बूड़ जाथे। उहां के जमीन बूड़े के बाद सरकार ह अंदाजन दू दर्जन किसान मन ल मुआवजा दिस होही। बांधा ले प्रभावित किसान मन के कहना हे कि मुआयजा प्रकरण बनाए म बड़ धांधली होए हवय। हमन ल पन्द्रा बछर होगे मुआवजा खातिर भटकत फेर अभीन ले मुआवजे नइ मिले हे।
अपन बूड़े खेत के मुआवजा खातिर पन्द्रा बछर ले भटकत किसान मन कलेक्टर जनदर्शन ले लेके पोठहा पोठहा नेता मन के तको पाछू दउड़िन फेर परिणाम आखिर तक अण्डा बटा पराठेच रहिस। ए संबध म जल संसाधन विभाग के एसडीओ एसके धमीजा के कहना हावय कि ओ बांधा म जतका किसान प्रभावित हे उन्कर मुआवजा उन ल मिल गे हवय। अब उहां काकरो मुआवजा देना नइ बांचे हे।

चटकारा :-
अर्जुन:- भगवान कलजुग म तैं कोन रूप म आबें ?
भगवान:- अर्जुन कलजुग म मै नंगरजोत्ता किसान बन के आहूु। घर बूड़ै के फसल सरै चाहे सरी खेत खार दर्रा पर जाय। तैं मोर बारे म भासन भर दे देबे। सुन के मै मुसकिया देहू ताहेन समझ जबे।
अर्जुन:- तै मिलबे कहां ?
भगवान:- उहेंचे, चुनई मैदान म।

लउछरहा..