अब आही नानी याद नान के घोटालाबाज मन ल

6 हजार करोड़ रूपिया के नागरिक आपूर्ति निगम घोटाला मामला में प्रवर्तन निदेषालय (ईडी) हॅ अब आरोपी मन उपर फाॅस के गाॅठ ल कसते जावत हे। मनी लांड्रिग एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज करे के बाद ये मामला म राज्य आर्थिक अपराध ब्यूरो ( ईओडब्ल्यू) के तरफ ले बनाए जम्मो आरोपी मन नोटिस भेजे हें। जेमा आईएएस अफसर डाॅ आलोक शुक्ला अउ अनिल टुटेजा घलो शामिल हवय। नोटिस म मामला ले जुड़े जम्मो कागज पत्तर के तको जानकारी मंगाए गे हे। संगे संग नागरिक आपूति निगम के प्रबंध संचालक तको ल नोटिस भेज के घोटाला उजागर होए के बेरा निगम म पदस्थ जम्मो अधिकारी करमचारी अउ चावल सप्लाई करइया राइस मिलर मन के पूरा जानकारी मांगे। अबड़ जल्दी ईडी हॅ जम्मो आरोपी मन ले पूछताछ करइया हावय।
का हे आरोप ?

आरोप हवय के प्रदेष म राईस मिलर मन लाखों कोंटल घटिया चाउर लेके अउ ओकर बल्उा करोड़ो रूपिया के रिष्वतचखोरी करे हे। ए मामला म नागरिक आपूर्ति निगम के परिवहन में घलो अनियमितता पाए गे हे। ईओडम्ल्यू हॅ 27 झन उपर ए मामला दर्ज करे हावय, जेमा 16 झन के खिलाफ जून 2015 म चालान पेष हो चुके हे। ईओडम्ल्यू हॅ अपन पूरक चालान म आईएएस अफसर डाॅ आलोक शुक्ला अउ अनिल टुटेजा घलो आरोपी बनाए हे।

ईओडब्‍लू टीम करत हे जाॅच पड़ताल
हाल मे नान घोटाला मामाला म ईओडम्ल्यू के टीम नागरिक आपूर्ति निगम के दफतर जाॅच पड़ताल के बाद जरूरी कागजात मन जब्त कर ले हे। ए मामला के जाॅच बर एसआईटी के टीम घलो गठित होगे हवय। ए टीम के अगुआ आईजी एसआरपी कल्लूरी हवय। एसआईटी ल तीन महीना के भीतर जाॅच करके अपन रिपोर्ट देना हे। जाॅच के 11 बिन्दु तय करे गे हवय। ए बिन्दु मन म सन 2015 म ईओडब्ल्यू म दर्ज प्रकरण के जम्मो मुद्दा सामिल हवय। एकर तहत मामला के आरोपी षिवषंकर भट्ट ले बरामद डायरी के जम्मो 113 पन्ना अउ के के बारिक के कम्प्यूटर ले मिले 117 पन्ना के घला छानबीन करे जाही।
धर्मेन्‍द्र निर्मल के सार समाचार

लउछरहा..