नरवा, गरूवा, घुरूवा अऊ बारी के प्रबंधन ले ग्रामीण अर्थव्यवस्था ल मिलही मजबूती : श्री भूपेश बघेल

रायपुर, मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ह कहिन हे के नरवा, गरूवा, घुरूवा अऊ बारी के प्रबंधन ग्रामीण अर्थव्यवस्था ले गहराई ले जुड़े हे। छत्तीसगढ़ म पहिली दू ले तीन फसल किसान आसानी ले, ले लेत रहिन, फेर खुला घूमत मवेसी मन के सेती अब एक फसल लेहे म घलोक तकलीफ होवत हे। फसल मन ल मवेसी मन ले बचाय के प्रबंध करना परत हे।




मुख्यमंत्री आज इहां अपन निवास म छत्तीसगढ़ प्रदेश लोधी समाज के प्रतिनिधि मंडल ल सम्बोधित करत रहिन। मुख्यमंत्री ह कहिन के कहूं मवेसी मन ल बारा महीना एके जगा बांधके गौठान म रखे जाय, ऊंखर बर पानी-चारा अऊ शेड के व्यवस्था कर दे जाय, त एखर प्रबंधन व्यवस्था ले कम्पोस्ट खाद, वर्मी खाद, बायोगैस के उत्पाद के संग गौ वंशी पशु मन ले दूध अऊ दही के घलोक अच्छा उत्पादन संभव हे। मुख्यमंत्री ह कहिन के आज पूरा देश म छत्तीसगढ़ म किसान मन के ऋण माफी अऊ सर्वाधिक दर ढाई हजार रूपिया प्रति क्विंटल ले धान खरीदी के चर्चा हे। राज्य शासन के ए फैसला मन ले किसान मन म खुशहाली आये हे।



छत्तीसगढ़ प्रदेश लोधी समाज के प्रदेशाध्यक्ष श्री कमलेश्वर वर्मा के नेतृत्व म प्रदेश के कई ठन जिला मन ले आए लोधी समाज के प्रतिनिधि मन ह राज्य शासन के किसान हितैषी फैसला मन बर मुख्यमंत्री ल अभिनंदन पत्र भेंटकरके ऊंखर प्रति आभार प्रकट करिन। ए अवसर म उद्योग अऊ वाणिज्य मंत्री श्री कवासी लखमा अउ विधायक श्री विक्रम मंडावी संग लोधी समाज के महामंत्री श्री रमेश पटेल, श्री ओमलाल वर्मा, श्री भरत वर्मा, श्री मूलचंद वर्मा संग बहुत अकन पदाधिकारी घलोक उपस्थित रहिन।



लउछरहा..