मुख्यमंत्री ह प्रदेश के सुप्रसिद्ध गीतकार श्री नरेन्द्र श्रीवास्तव के निधन म गहरा दुःख व्यक्त करिन

रायपुर, मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ह प्रदेश के सुप्रसिद्ध गीतकार अऊ कहानीकार श्री नरेन्द्र श्रीवास्तव के निधन म गहरा दुःख व्यक्त करिन हें। श्री बघेल ह कहिन के ऊंखर देहावसान ले छत्तीसगढ़ ह एक बड़े साहित्यकार ल हमेशा बर खो देहे हे। मुख्यमंत्री ह आज इहां जारी शोक-संदेश म कहिन के जांजगीर-चांपा जिला के निवासी लोकप्रिय गीतकार स्वर्गीय श्री श्रीवास्तव ह करीबन 60 बछर तक अपन साहित्य साधना ले देश अऊ समाज ल सही दिशा देहे के प्रयास करिन। कवि सम्मेलन के मंच मन म अऊ कई ठन पत्र-पत्रिका मन म मानवीय संवेदना मन उपर आधारित अपन गीत मन ले उमन साहित्य जगत म छत्तीसगढ़ के पहिचान बनाइन अऊ अपार लोकप्रियता हासिल करिन। हम आप मन ल बता देवन के श्री नरेन्द्र श्रीवास्तव के काल बिलासपुर के एक प्राइवेट अस्पताल म निधन हो गीस। उंखर जन्म 21 जून 1937 के दिन छत्तीसगढ़ के तखतपुर क्षेत्र के ग्राम विजयपुर म होए रहिस। उमन साल 1958 ले सरलग लेखन ले घलोक जुड़े रहिन। ओ मन ल साल 2003 म माधवराव सप्रे सम्मान अऊ साल 2009 म डॉ. प्रमोद वर्मा सम्मान ले नवाजे गए रहिस। हाले म मायाराम सुरजन फाउण्डेशन रायपुर कोति ले घलव ओ मन ल लोक चेतना अलंकरण ले सम्मानित करे के घोषणा करे गए रहिस। कविता मन के संगे-संग उंखर बहुत अकन कहानी मन घलोक पत्र-पत्रिका मन म प्रकाशित होए रहिस।

लउछरहा..