नरवा, गरवा, घुरवा अऊ बाड़ी योजना ल खरीफ फसल ले जोरव- श्री राव

रबी साल 2018 के प्रगति के समीक्षा अउ खरीफ साल 2018-19 के निर्धारण बर संभागीय समीक्षा बैठक संपन्न
रायपुर, अपर मुख्य सचिव अउ कृषि उत्पादन आयुक्त श्री के.डी.पी. राव ह कहिन हे कि किसान मन के आर्थिक सशक्तिकरण बर छत्तीसगढ़ शासन के महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरवा, घुरवा अऊ बाड़ी योजना ल खरीफ फसल मन के संग जोड़के शासन के योजना के लाभ देवाए जाना चाही। श्री राव आज सरगुजा जिला के मुख्यालय अम्बिकापुर के जिला पंचायत सभाकक्ष म आयोजित बैठक म रबी साल 2018 के प्रगति अउ खरीफ साल 2018-19 के तैयारी मन के समीक्षा बैठक ल संबोधित करत रहिन।




उमन कहिन कि खरीफ मौसम बर किसान मन के मांग के मुताबिक फसल मन के प्रमाणिक अउ उत्तम गुणवत्तायुक्त बीज के व्‍यवस्‍था करवावव जेकर से ओ मन ल बीजहा खातिर निजी प्रतिष्ठान ले जादा कीमत म बीजहा बिसाना झन परय। श्री राव ह बैठक म सरगुजा संभाग अंतर्गत सरगुजा, जशपुर, कोरिया, सूरजपुर अउ बलरामपुर-रामानुजगंज जिला म नरवा, गरवा, घुरवा अउर बाड़ी योजना के क्रियान्वयन अउ रबी साल 2018 के प्रगति के संग आगामी खरीफ साल 2018-19 बर क्षेत्राच्छादन अउ राज्य अउ केन्द्र प्रवर्तित योजना मन के क्रियान्वयन के विस्तार ले समीक्षा करिन।




श्री राव ह नरवा, गरवा, घुरवा अउ बारी योजना उपर प्रकाश डालत बताइस कि नरवा के तहत नदी-नाला के उद्गम स्थल ले ही जल संरक्षण चालू करना हे ताकि क्षेत्र के जमीन म नमी बने रहय। उमन कहिन कि योजना के तहत चुने गे ग्राम मन ल जल उद्गम क्षेत्र ले जोड़के किसान मन ल कृषि बर प्रेरित करव। उमन कहिन कि रबी फसल ले किसान मन ल सबले जादा लाभ मिलही हे ए खातिर रबी मौसम म कृषि क्षेत्र के दायरा बढ़ावव। श्री राव ह कहिन कि ग्रामीण क्षेत्र मन म पशु मन के साथ किसान मन के फसल मन ल क्षति पहुंचाये जात हे अउर ए क्षति ल रोके बर ऊंखर पास कोनो कारगर उपाय घलोक नइ होवय। एखर बर जिला मन म चुने गे ग्राम मन म गौठान के निर्माण करे जात हे जहॉ गौवंशीय अउ भैंसवंशीय मन बर चारा, पानी अउ शेड निर्माण ले लेके दवाई के सुविधा के व्‍यवस्‍था करे जात हे। उमन कहिन कि गौठानों म पशु मनके नस्ल सुधार के दिशा म घलोक पहल करत जरूरी व्यवस्था सुनिश्चित कराये जाए।

लउछरहा..