अब बिसा सकत हव, राज्य गीत ‘अरपा पैरी के धार, महानदी हे अपार‘ लिखाए कुरथा

रायपुर, छत्तीसगढ़ के राज्य गीत ‘अरपा पैरी के धार, महानदी हे अपार‘ ले उकेरे गए कपड़ा मन के दुकान आज ले शुरू होए हे। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के धर्मपत्नी श्रीमती मुक्तेश्वरी बघेल ह कई प्रकार के कपड़ा मन म बुनाई के माध्यम ले राज्य गीत उपर आधारित कपड़ा मन के दुकान के शुभारंभ कर देहे हें।

छत्तीसगढ़ राज्य हाथकरघा विकास अउ विपणन सहकारी संघ कोति ले राज्य के बुनकर मन ले कई प्रकार के बुनाई के माध्यम ले कोसा, सूती वस्त्र के उत्पादन कराए जाथे। ये मां कोसा शिल्क साड़ी, रेडिमेंड जैकेट, ब्लाऊज, कुर्ती आदि के नवा टाईप के कपड़ा जऊन कि राज्य गीत उपर आधारित हे, तेला शुरू करे गए हे। ये कलेक्शन म छत्तीसगढ़ के महान कवि स्वर्गीय डॉ. नरेन्द्र वर्मा के रचित ‘अरपा पैरी के धार, महानदी हे अपार‘ ल कई प्रकार के कपड़ा मन म उकेरे गए हे। येकर शुभारंभ कार्यक्रम म छत्तीसगढ़ राज्य हाथकरघा संघ के अधिकारीगण उपस्थित रहिन।

एहू ल पढ़व ..  मंत्री श्रीमती भेंड़िया ह लीस छत्तीसगढ़ महिला कोष के बइठक

लउछरहा..