लइका मन ल संस्कारित करना आज के सबले बड़े जरूरत – श्री ताम्रध्वज साहू

बिलासपुर, लइका मन ल पढ़ावव-लिखावव, फेर ओ मन ल संस्कारित घलोक करव। ये समाज, देश अऊ मानवता के प्रति आप मन के उपकार होही। संस्कार के शिक्षा बहुत जरूरी हे, नइ त हमर अवइया पीढ़ी खराब होत जाही। एमा गंभीर चिंतन करे के जरूरत हे। लोक निर्माण, गृह, जेल, धार्मिक न्यास अउ धर्मस्व, पर्यटन मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ह आज चौकसे ग्रुप ऑफ कॉलेज म आयोजित कार्यक्रम म ये बात कहिन।
महिला अउ बालिका मन बर द विस्डम ट्री फाउंडेशन अऊ चौकसे गु्रप ऑफ कॉलेज बिलासपुर के तरफ ले आयोजित महिला आत्मरक्षा प्रशिक्षण कार्यक्रम अऊ अवार्ड सेरेमनी म गृहमंत्री श्री ताम्रध्वज साहू मुख्य अतिथि के रूप म उपस्थित रहिन। कॉलेज के ऑडिटोरियम म आज ए तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन समारोह आयोजित करे गीस। ए अवसर म श्री साहू ह कहिन कि आज के युग के ये महती जरूरत हे कि महिला अउ बालिका मन आत्मरक्षा के तरीका ले परिचित होवयं। उमन कहिन कि हम कोनो वृक्ष के फूल, पत्ता अऊ फल के तरफ ही ध्यान देथन, जड़ कोति हमर ध्यान नइ जावय। जड़ के कोति ध्यान देहे ले पेड़ के सबो अंग बने रइथे। वइसनहे सामाजिक व्यवस्था घलोक एक जड़ ये, ये व्यवस्था ठीक रइही त महिला मन ल आत्मरक्षा बर प्रशिक्षण लेहे के जरूरत नइ परही। उमन कहिन कि अभी हाल के शिक्षा प्रणाली मानवता के निर्माण के दिशा म अनुपयोगी हे अऊ ये शिक्षा केवल नौकरी पाए के साधन बन गए हे। आज के भागदौड़ भरे जिंदगी म हम जीवन के असली उद्देश्य ल ही भुला गए हन। एखर बर सरकार कुछ नइ कर सकय, भलुक समाज अउ कुटुंब ल प्रयास करना होही।

एहू ल पढ़व ..  छत्तीसगढ़ के कला-संस्कृति के प्रचार-प्रसार बर हर साल थीम निरधारित करके काम करे म बल

कार्यक्रम के अध्यक्षता करत बिलासपुर के विधायक श्री शैलेष कुमार पाण्डेय ह कहिन कि हमर देश बहुत बछर तक गुलामी ले जकड़े रहिस। एखर से हमार संस्कृति घलोक प्रभावित होइस। जेखर कारण हमर महिला अऊ बेटी मन ल सबले जादा समस्या आइस। महिला मन ल आगू बढ़े के जरूरत हे। सरकार ह घलोक एखर बर प्रयास करत हे। बेटी बचाओ-बेढ़ी पढ़ाओ अभियान ए कड़ी के एक हिस्सा हे। बेटी मन ह घलोक बहुत अकन उपलब्धि हासिल करके देश ल सम्मान देवाए हें। आज हर लड़की ल शिक्षित अऊ जागरूक बनाना समय के मांग हे। कार्यक्रम ल विशिष्ट अतिथि तेलंगाना ले आये प्रोफेसर के.वेंकटस्वामी ह घलोक संबोधित करिस। चौकसे ग्रुप ऑफ कॉलेज के डायरेक्टर श्रीमती डॉ.पलक जायसवाल ह महिला मन बर आत्मरक्षा कार्यक्रम के उद्देश्य उपर प्रकाश डालिन। उमन कहिन कि महिला मन ह अपन दायरा म रहिके उपलब्धि हासिल करे हें। फेर ओ मन ल आत्मरक्षा के जरूरत घलोक हे। विस्डम ट्री फाउंडेशन ह ए दिशा म पहल करके करीबन डेढ़ हजार बालिका मन ल आत्मरक्षा के प्रशिक्षण देहे हे।

कार्यक्रम म कई क्षेत्र मन म उल्लेखनीय काम करइया नारी शक्ति मन ल सम्मानित करे गीस। संगेच कॉलेज के प्रतिभावान छात्र-छात्रा मन ल घलोक इनाम देहे गीस। ए अवसर म कॉलेज के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष जायसवाल, कॉलेज के प्राचार्य श्री अहिरवार, श्री अभय नारायण राय, श्री प्रमोद नायक संग शिक्षक-शिक्षिका, छात्र-छात्रा मन बड़ संख्या म उपस्थित रहिन।

लउछरहा..