मुख्यमंत्री के पंदोली म नौ नलजल योजना मन के होइस स्वीकृति, बड़का आबादी ल पहुंचही लाभ

– साल भर के भीतर योजना मन ल पूरा करे के दीन हुकुम
– करीबन चउदा हजार गांव वाले मन ल मिल पाही शुद्ध पेयजल

दुर्ग 12 फरवरी 2020। मनखे मन ल शुद्ध पेयजल उपलब्‍ध कराए के दिशा म मुख्यमंत्री के हुकुम म बड़का कदम लोकस्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग कोति ले उठाए गए हे। जिला म नौ नलजल योजना मन के प्रशासकीय स्वीकृति हो गए हे। इंकर संघरा लागत तीन करोड़ चौउदा लाख रुपिया हे। पेयजल के दिक्‍कत झेलत गांव मन बर ये योजना मन वरदान साबित होही। ए योजना मन के क्रियान्वयन ले चौदह हजार गांव वाले मन ल शुद्ध पेयजल मिल पाही। स्वीकृत योजना मन म पाटन ब्लाक म निपानी नलजल योजना 49 लाख रूपिया के लागत ले, खम्हरिया नलजल योजना 36.40 लाख रूपिया के लागत ले, तुलसी नलजल योजना 37 लाख 12 हजार रूपिया के लागत ले, खम्हरिया( कुरुदडीह) नलजल प्रदाय योजना 37 लाख छह हजार रूपिया के लागत ले, पंदर आवर्धन नलजल प्रदाय योजना 47 लाख रूपिया के लागत ले, करगा नलजल प्रदाय योजना 35 लाख 58 हजार रूपिया के लागत ले, फेकारी नलजल प्रदाय योजना 37 लाख 78 हजार रूपिया के लागत ले अऊ धमधा ब्लाक म टेकापार नलजल प्रदाय योजना 36 लाख 68 हजार रूपिया के लागत ले, पोटिया( सेवती) नलजल प्रदाय योजना 32 लाख 58 हजार रूपिया के लागत सामिल हे। ए सब योजना मन म शतप्रतिशत रहवासी मन ल कनेक्शन देहे के हुकुम दे गे हे। ये संबंध म जानकारी देवत लोकस्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अभियंता श्री समीर शर्मा ह बताइस कि एक साल के समयावधि के भीतर सबो नलजल प्रदाय योजना मन फंक्शनल हो जाही।

एहू ल पढ़व ..  एक पाव दूध हरेक मनखे बर होना चाही, अभी केवल आधा पाव होथे, उन्नत नस्ल के पशु पालन ले बदलही स्थिति

गर्मी म होत रहिस बिक्‍कट तकलीफ – ए सबो चिन्हांकित ग्रामीण क्षेत्र मन म गर्मी के दिन मन म गांव वाले मन ल अड़बड़ दिक्कत के सामना करना परत रहिस। हैंडपंप म गर्मी मन म पानी बहुतेच कम आत रहिस। अब नलजल योजना सुरू होए के बाद पेयजल समस्या के स्थायी समाधान मिल जाही। पेयजल मिशन के मानक के मुताबिक प्रति मनखे 65 लीटर शुद्ध जल के उपलब्धता सब बर सुनिश्चित हो जाही।

लउछरहा..