मौसम म बदलाव बड़का विज्ञान, एकर मिलके मुकाबला करव, समाधान खोजव : श्री बोरा

श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय रायपुर कोति ले पर्यावरण विसय म आयोजित राष्ट्रीय सेमिनार म होइन सामिल

रायपुर, 08 फरवरी 2020। राज्यपाल के सचिव श्री सोनमणि बोरा ह कहिन कि आज कई ठन कारन ले जलवायु म बदलाव होवत हे। एला हम समस्या के रूप म मानन या बड़का विज्ञान के रूप म, ये चिंता करे के विसय ये। एला बड़का विज्ञान के रूप म मान सकत हवन। एकर सबो ल मिलके समाधान खोजना होही। नीति बनइया, वैज्ञानिक अऊ जवान मन ल एक संग मिलके एकर सामना करना होही। ए महा आंदोलन म समाज म विशेषकर युवा मन के भूमिका बहुतेच बड़का होगी। श्री बोरा काली श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय रायपुर कोति ले पर्यावरण विसय उपर आधारित राष्ट्रीय सेमिनार ल संबोधित करत रहिन।

उमन कहिन कि हमर धरती के उम्‍मर 3.8 बिलियन साल हे। ये बताए जाथे के पाछू 500 मिलियन साल म 5 बड़े दुर्घटना होइस, जेखर से कभू 30-40 प्रतिशत प्रजाति धरती ले नंदा गीस। अभी के बेरा म मनखे के अंधेर जीवछुट्टई के सेती 6वां महाप्रलय हो सकत हे।

श्री बोरा ह गांधी जी के कहे बात के उदाहरन देवत कहिन के सबे कुछ होए के बाद घलोक बहुतेच पाय के सउंख के सेती हमन ल वातावरण म ये बदलाव देखे ल मिलत हे। ए बदलाव मन बर कहूं न कहूं जिम्मेदार हमीच हवन। आज बेमौसम बरसा होवत हे। मौसम चक्र म बदलाव दिखत हे। उमन कहिन कि छत्तीसगढ़ म कुछ समय के अंतराल म अइसे होय हे के कुहरा के सेती कम दिखे म राजधानी के हवईअड्डा म जिहात नइ उतर पावत हे। इहां तक के हमन जउन धान बोंथन तउन धान के फसल के वेरायटी म घलोक फरक देखे जात हे। उमन कहिन कि एक जगा ले दूसर जगा होवत पलायन के संबंध घलोक कोनो न कोनो रूप म जलवायु बदलाव ले हे।

एहू ल पढ़व ..  दूर प्रदेश के लोक कलाकार आदिवासी नृत्य महोत्सव म सामिल होए छत्तीसगढ़ बर होइन रवाना

श्री बोरा ह कहिन कि ए समस्या के सामना करे बर हमला जागरूक होना परही। हमला अइसन साधन अपनाए ल परही के पर्यावरण बने रहय। अइसन सेमिनार के माध्यम ले उदीम करत रहव के एकर हम सही समाधान खोजन अऊ अपन पृथ्वी ल नष्ट होए ले बचावन।
कुलाधिपति स्‍वामी रावतपुरा सरकार ह कहिन कि विश्वविद्यालय म अइसन सेमिनार होत रहना चाही। ये पढ़ईया लईका मन बर उपयोगी तो होथेच, संगें अइसन कार्यक्रम ले ही विश्वविद्यालय के पहिचान बनथे। ए अवसर म नीरी के वैज्ञानिक डॉ. राजेश बी. बिनावाले अऊ पर्यावरण संरक्षण मण्डल भोपाल के वरिष्ठ वैज्ञानिक श्री आर. पी. मिश्रा ह घलोक संबोधित करिन। कार्यक्रम म कुलपति श्री अंकुर अरूण कुलकर्णी, डॉ. छबिराम मतवाले, डॉ. देवियानी शर्मा, विद्यार्थीगण अउ शिक्षकगण उपस्थित रहिन। ए अवसर म कार्यक्रम ले संबंधित पत्रिका के घलोक विमोचन करे गीस।

लउछरहा..